Home / Diseases / What is the reason for Kidney Stone? | पथरी (किडनी स्टोन) होने के क्या कारण हैं?

What is the reason for Kidney Stone? | पथरी (किडनी स्टोन) होने के क्या कारण हैं?

पथरी गुर्दे (Kidney) की एक महत्वपूर्ण बीमारी है जो आजकल बहोत से लोगों में आमतौर पर दिखाई देती है। पथरी की बीमारी होने पर पेट या पीठ के निचले हिस्से में असहनीय पीड़ा, पेशाब में संक्रमण होती है और अगर यह ज्यादा बढ़ जाये तो किडनी को नुकसान हो सकता है। इसलिए पथरी की बीमारी के बारे में और उसके उपायों के बारे में विस्तार से जानना जरुरी है।

 

पथरी क्या है? | What is Stone?

हम जिन पदार्थो का सेवन करते है उनमे कुछ मात्रा में कैल्शियम ऑक्जलेट या अन्य क्षारकाण (Crystals) होते है, जो की किडनी से पुरी तरह से फ़िल्टर नहीं हो पाते। उसके बाद वह कण एक दूसरे से मिल जाते है और कुछ दिनों में धीरे-धीरे मूत्रमार्ग में उन कणों के वजह से कठोर पदार्थ बनने लगता है, जिसे पथरी के नाम से जाना जाता है। उस कारण जब हम पेशाब करते है उसमे जलन या असहनीय पीड़ा होती है।

किडनी में अगर १ लीटर से कम पेशाब बन रहा है तो उसमे पथरी तैयार होने की सम्भावना बढ़ जाती है। किडनी की पथरी २० से ४० साल की उम्र के लोगों में ज्यादा बनती है। महिलाओं की अपेक्षा में पुरुषों में पथरी बनाने का प्रमाण अधिक है।

किडनी स्टोन का आकार | Size of Kidney Stone

पथरी मुख्य तौर पर मूत्रवाहिनी (ureter), मूत्राशय (urinary bladder) और किडनी (kidney) में पायी जाती है।

पथरी विभिन्न आकर की होती है। जैसे की मूत्रमार्ग (Urethra) में जो पथरी तैयार होती है वह विभिन्न आकर की और अलग-अलग लंबाई की होती है। उसका आकार रेत के कण जितनी छोटा भी हो सकता है वही कुछ मामलों में तो वह गेंद की जितनी बड़ी भी हो सकती है।

कुछ तरह की पथरी अंडाकार या गोल होती है तो कुछ पथरी खुरदरी होती है। जो पथरी अंडाकार या गोल होती है वह ज्यादातर बाहर से चिकनी होती है। इस प्रकार की पथरी बड़ी सरलता से पेशाब में बाहर निकल जाती है और इसमें दर्द भी कम होता है।

वही जो पथरी खुरदरी होती है उससे दर्द होने की सम्भावना बहुत ज्यादा होती है और वह सरलता से पेशाब में बाहर नहीं निकलती।

किडनी स्टोन होने के मुख्य कारण क्या है? | What are the main causes of kidney stone?

reason for kidney stones in hindi

किडनी स्टोन होने के वैसे तो विभिन्न कारण है, लेकिन इनमें से कुछ मुख्य कारण हम आपको विस्तार से बताने जा रहे है जो kidney stone की सम्भावना को बढ़ाते है।

किडनी स्टोन के कारण | Causes of kidney stone

कम पानी पीना | Drink less water

आजकल ज्यादातर रोगों के मुख्य कारणों पर सोचा जाये तो उन सबका प्रथम कारण कम पानी पीना ही निकलता है । पथरी की बीमारी भी इसका अपवाद नही है। कम पानी पीना ही पथरी होने का सबसे महत्वपुर्ण कारणों में से एक कारण है।

विशेषज्ञोंके अनुसार हर इंसान को एक दिन में कम से कम 2.5 से 3 लीटर पानी पीना जरूरी होता है। अगर आप प्रतिदिन काम पानी पिते है तो पेशाब भी कम होती है। इसके कारण शरीर से कैल्शियम ऑक्जलेट या अन्य क्षारकाण पेशाब द्वारा शरीर से बहार नही निकल पाते है और उसके कारण ही पथरी की बीमारी हो सकती है।

आनुवंशिकता | Heredity

आनुवंशिकता भी पथरी होने का एक महत्वपूर्ण कारण है। अगर आपके परिवार में किसी को किडनी स्टोन की समस्या है, तो आनुवंशिकता के कारण परिवार के अन्य सदस्य को भी यह बीमारी होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

कैल्शियम ऑक्सालेट | Calcium oxalate

पथरी के कारण में कैल्शियम ऑक्सालेट से तैयार होने वाली पथरी सबसे ज्यादा पाई जाती है। इस तरह की पथरी शरीर में कैल्शियम और ऑक्सालेट की अधिकता के कारण बनती है। कैल्शियम ऑक्सालेट, ऑक्सालेट का कैल्शियम सॉल्ट यानि एक प्रकार का नमक है। शरीर में जब ऑक्सालेट की मात्रा ज्यादा हो जाती है तो वह किडनी में कैल्शियम के साथ मिलकर पथरी बना देता है।

इस तरह की पथरी का निर्माण अधिक ऑक्सालेट की मात्रा वाली चीजें ज्यादा लेने से हो सकता है। जैसे की आलु की चिप्स, पालक, मुंगफली, अमरुद, भिन्डी, बादाम, शकरकंद, चुकंदर आदि चीजों में ऑक्सालेट की मात्रा अधिक होती है।

दैनिक आहार | Daily Diet

हमारे दैनिक आहार में कुछ चीजे ऐसी होती है जो किडनी स्टोन होने की सम्भावना को बढ़ाती है। जैसे की टमाटर, बैगन, लाल मास (red meat), पालक, चुकुन्दर, उच्च प्रोटीन वाले पदार्थ, बादाम, सप्लीमेंट्स, उच्च सोडियम युक्त पदार्थ, और डार्क चॉकलेट आदि।

कोई व्यक्ति अगर इस बीमारी का लक्ष्य है, तो उसे इन खाद्यपदार्थों को कम मात्रा में लेना चाहिए या तो ऐसे पदार्थो खाने पर रोक लगाने की आवश्यकता होती है।

अत्यधिक नमक का सेवन | Excessive salt intake

दैनिक आहार में अत्यधिक नमक का सेवन करना या ज्यादा नमक वाली चीजोंको ग्रहण करना किडनी स्टोन की बीमारी होने की संभावना को बढ़ावा देता है।

सिस्टीन | Cysteine

सिस्टीन मनुष्यों में एक गैर-आवश्यक सल्फर युक्त अमीनो एसिड है। सिस्टीन प्रोटीन संश्लेषण, विषहरण (detoxification) और विविध चयापचय कार्यों के लिए महत्वपूर्ण है।

सिस्टीन से बनानेवाली पथरी का कारण अनुवांशिक होता है। लेकिन पथरी का यह प्रकार बहुत कम लोगों में है। इस प्रकार की पथरी को एक बार निकाल देने के बाद भी यह दुबारा बन जाती है।

इसके अलावा गुर्दे की पथरी बनाने के कई अन्य कारण भी है। उनमे से कुछ कारण निचे दिया गए है,

१) मोटापा
२) थायरॉइड
३) डिहाइड्रेशन
४) अधिक प्रोटीन व नमक वाला भोजन
५) कुछ विशेष प्रकार की दवा
६) पेशाब में अधिक मात्रा में केमिकल और एसिड होने से
७) अधिक मात्रा में जंक फुड का सेवन करने से

उपरोक्त सभी किडनी स्टोन होने के कारण है। अतः अगर आप पथरी से बचाना चाहते है तो इन कारणों पर ध्यान रखना चाहिए और इससे तुरंत निजात पाने के लिए जल्द से जल्द इलाज करना चाहिए।

(नोट: उपरोक्त सुझाव केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए हैं। अतः इसक उपयोग करने से पहले विशेषज्ञों की सलाह जरूर ले।)

अगर आपको यह post पसंद आये तो comment जरूर करे और आपकी प्रसन्नता दर्शाने हेतु कृपया इसे Facebook और Twitter पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करे।

About sagar

Hello, I am Sagar Kanherkar lives in Pune. I am the Author and Founder of Ghareluremedies. I am a fitness freak who loves to read, travel and sports. Thinking about for the past 1 year and now finally I am decided to start my blog. This blog offers you a detailed review of Home Remedies, Fitness Tips, Healthy Ideas, Health News and More.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

Piles Ke karan in Hindi

Causes of Piles in Hindi | बवासीर होने के कारण और बढ़ने के खतरे

कभी कभी गुदा और मलाशय में मौजूद नसों में तनाव और सूजन आती है उसे ...